gender

बाल विवाह के खिलाफ नुक्कड़ नाटक का प्रशिक्षण सम्पन्न

लड़कियों को होना चाहिए अपनी पसंद का अधिकार: बर्णाली

जमशेदपुर, 24 जुलाई, 2019: सामाजिक संस्था ‘यूथ यूनिटी फॉर वोलंटरी एक्शन (युवा)’ की ओर से गर्ल्स फर्स्ट फंड के सहयोग से चल रहे नेतृत्व सह नुक्कड़ नाटक प्रशिक्षण शिविर का आज समापन हो गया।

बाल विवाह के खिलाफ नुक्कड़ नाटक प्रशिक्षण के समापन समारोह को संबोधित करते हुए ‘युवा’ की सचिव बर्णाली चक्रवर्ती ने कहा कि युवतियों को अपनी पसंद का अधिकार होना चाहिए। लड़कियाँ अपनी मर्जी से चल, बोल सकें। अपनी मर्जी के कपड़ें पहनें और अपनी मर्जी से कहीं भी जा सकें, यह अत्यंत जरूरी है।

उन्होंने कहा कि ऐसा माहौल बनाने के लिए सघन जागरुकता की जरूरत है। उन्होंने जल्द विवाह को खतरनाक बताते हुए इसके नुकसान बताये। उन्होंने कहा कि नुक्कड़ नाटक प्रशिक्षण से युवतियों में विषय की समझ बढ़ेगी। उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा। संचार कौशल में भी वृद्धि होगी। अपना निर्णय स्वयं लेने में बालिकाएँ सक्षम होंगी।

प्रशिक्षण शिविर के संचालक रविकांत मिश्रा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की लड़कियों में काफी प्रतिभा है। उन्होंने कहा कि दस दिनों में नयी लड़कियों के साथ नाटक तैयार करना मुश्किल कार्य था, लेकिन लड़कियों की मेहनत से यह संभव हो सका।

शिविर में गंगाडीह एवं लागुरासाई की 20 लड़कियों ने भाग लिया। प्रशिक्षण के बाद ग्रामीणों के बीच गोमियासाई एवं लागुरासाई में नाटक का मंचन भी किया किया गया। प्रशिक्षण को सफल बनाने में अंजना देवगम, भारती सरदार, चंद्रकला मुंडा, अवंती सरदार, ज्योति हेम्ब्रम ने सक्रिय भूमिका निभायी।

Comments